मात्रभाषा में प्रथम लेख

नमस्कार | इस मेख को लिखने से पहले मैं इस विचार में था, कि अपनेब्लॉगपर नया क्या लिखा जाए | बहुतविचार करने के बाद मैं इस नतीजे पर पहुँचा कि अपनी मात्रभाषा में लेख लिखा जाए (जो आप इस वक्त महसूसकर रहे हैं,पढ़ रहे हैं) | किंतु, मेरे पास कोई सॉफ्टवेर तोह है नहीं, जिससे में शुद्ध हिन्दी में, बिना कोई गलती किएलेख लिख सकूं | थोड़े शोध के बाद मेरी नज़रगूगलके अंग्रेज़ीसेहिन्दी अनुवादक पर पड़ी | यूँ तोह यहअनुवादक बहुत सहायक है, पर इसका उपयोग अक्षरों तक ही सीमित है | यधि आप अंग्रेज़ी मेंलिखे हुए पूरे लेखका अनुवाद एक साथ करना चाहते हैं, तोह फिरगूगलअनुवादक ज़्यादा उपयोग का नहीं है|

पर फिर सोचने की बात यह है, कि हमने यह लेख लिखा कैसे | तोह कहानी कुछ ऐसी है कि हम तोह ठहरे गूगलप्रेमी | तोह हमने यहाँ वहां हात पांव चलाये, और अंत मेंब्लागस्पाटके में लेख लिखने वाली नई विशेषता कोखोज लिया | अब हिन्दी में लेख लिखना हो गया सरल, और इसका सबूत आप के सामने है |

पाठशाला
में अंग्रेज़ी में पढ़ाई करने के बाद मैंने कभी सपने में भीनहीं सोचा था कि ऐसा भी दिन आएगा जब मेंहिन्दी में कुछ लिखूंगा | वैसे हिन्दी में लिखना आसान है, पर इतने दिनों बाद आधे से ज़्यादा अक्षर याद ही नहींआते | धीरे धीरे हिन्दी में लिखने से शायद यह कार्य और सरल हो जाए |

जयहिंद |

Confessions of an Electrifying Mind

↑ Grab this Headline Animator

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s